Prv Next

Programing in C e-Book In Hindi

 

pointer in c in c in hindi

c language में प्रोग्र्ममिंग करने के लिए कई अधिक शक्तिशाली और प्रभावशाली उपकरण (tool) उपलब्द है तथा pointer एक एसा ही माध्यम है अन्य variable की तरह ज=ही pointer variable भी use कर सकते है जो किसी data का memory में address स्टोर करता है अत: यह कह सकते है की pointer एक एसा variable है जो किसी अन्य variable के address को होल्ड कर के रखता है c language pointer के use से प्रोग्राम को जटिलता और लम्बाई कम होती है तथा उसकी क्रियाशीलता में वृधि होती है pointer कहलाता है
pointer के use को समझने से पहले memory की सरचना को समझे कंप्यूटर की memory में एक एक बाइट की सेल श्रंखला बद तरीके से से जुधी होती है memory स्टोरेज सेल्स का संग्रह होती है memory बढ़ने पर बाइट की संख्या बढती है जब भी किसी variable या निर्देश को फीड करते है तो तो कंप्यूटर use उक्त बाइट की सेल में स्टोर कर देता है चूकी हर बाइट का अपना एक नंबर होता है अत: स्टोर किये जाने वाले variable और उसकी value को बाइट के उस नंबर से अर्थात उस variable memory address से जाना जा सकता है हर सेल का अपना एक यूनिक address होता है इस address को pointer की सहायता से ज्ञात कर सकते है

int i=8;

Example :

#include<stdio.h>
#include<conio.h>
void main()
{
      int i=8;
      clrscr();
      printf("Address Of I :%u\n",&i);
      printf("Address of I :%d",i);
      getch();
}

Output :


अत : स्पष्ट है की & की सहायता से किसी भी variable का memory location ज्ञात की जा सकती है

 

declaration of pointer In Hindi:

c language में अन्य variable की तरह ही pointer variable भी डेक्लेअर किये जाते है pointer variable को डिक्लेअर करने के नियम सामान्य variable को डिक्लेअर करने की रतरह ही होते है pointer variable को डिक्लेअर करने का syntax :

datatype *pvar;

यह data type c language के data type या यूजर डिफाइन data type में से  भी किसी एक प्रकार का होना चाहिए  pvar c द्वारा मान्य एक variable है और इसमें एक एस्टरिस्क (*) चिन्ह होता है जो value अत address ऑपरेटर कहलाता है

pointer variable का  declaration उपयुक्त उदाहरन द्वारा समझा जा सकता है
int *ptr;
char *ptr1;
student *ptr2;

उपयुक्त उदाहरन में ptr int pointer variable है और ptr1 char pointer variable है तथा ptr2 एक यूजर डिफाइन data type है

 

Address operator :

 

संकेत & एक ऑपरेटर है जसका use किसी variable का address एक्सेस करने के लिए और pointer variable में असाइन करने के लिए किया जाता है
उदहारण :


int m=15,*mptr;
float x=2.54,*xptr;
mpr=&m;
xptr=&x;

उपरोक्त उदहारण में & ऑपरेटर का use variable m व x का मान pointer variable का मान mptr और xptr में असाइन करने के लिए किया गया है

 

Indirection operator :

संकेत * indirection operator कहलाता है इसका use pointer के द्वारा किसी variable के मान को एक्सेस करने के लिए किया जाता है
उदाहरन :


#include<stdio.h>
#include<conio.h>
void main()
{
       int m=15,*mptr;
       float x=2.54,*xptr;
       clrscr();
       mptr=&m;
       xptr=&x;
       printf("\n value of m: %d",*mptr);
       printf("\n value of x: %f",*xptr);
       getch();
}

जब प्रोग्राम एक्सीक्यूट होता है जब साधरण variable का मान pointer variable के द्वारा प्रदर्शित होता है

Output :

 

 


Subscribe Our Website For Get Notification For New Update

Enter Name :
Enter E-Mail
Enter Mobile No
Enter City Name :